विदेश राज्‍य मंत्री वी मुरलीधरन को कोरोना नहीं, नेगेटिव निकला टेस्‍ट

विदेश राज्‍य मंत्री वी मुरलीधरन को कोरोना नहीं, नेगेटिव निकला टेस्‍ट

- in राजनीति
0

नई दिल्‍ली

विदेश राज्‍य मंत्री वी. मुरलीधरन का COVID-19 टेस्‍ट नेगेटिव आया है। वह अब तक सेल्‍फ क्‍वारंटाइन में थे। दरअसल, मुरलीधरन ने 14 मार्च को त्रिवेंद्रम स्थित एक मेडिकल इंस्‍टीट्यूट में मीटिंग अटेंड की थी. इसमें मौजूद एक डॉक्‍टर 15 मार्च को COVID-19 पॉजिटिव पाया गया। ऐहतियात के तौर पर, मंत्री ने खुद को सेल्‍फ क्‍वारंटाइन किया और अपना सैंपल टेस्‍ट को भिजवाया। मंगलवार को रिपोर्ट में COVID-19 नेगेटिव निकला।

परिवार एवं स्‍वास्‍थ्‍य कल्‍याण मंत्रालय के मुताबिक, भारत में अब तक 126 कंफर्म केसेज सामने आए हैं। सबसे ज्‍यादा मामले महाराष्‍ट्र से हैं जहां अब तक 39 कंफर्म पेशेंट मिले हैं। देश में अब तक COVID-19 से तीन लोगों की मौत हो चुकी है।

केंद्र ने जारी किया नेशनल हेल्‍पलाइन नंबर
भारत ने COVID-19 के मद्देनजर यूरोपीय देशों, युनाइटेड किंगडम और टर्की के लोगों की एंट्री रोक दी है। इसके अलावा फिलीपींस, मलेशिया और अफगानिस्‍तान से आने वाली फ्लाइट्स भी रोक दी गई हैं। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने एक टोल-फ्री नंबर – 1075 जारी किया है जो चौबीसों घंटे एक्टिव रहेगा।

महाराष्‍ट्र ने फैसला किया है कि वह सेल्‍फ क्‍वारंटाइन में भेजे जाने वाले लोगों पर मुहर लगाएगा। पेशेंट्स के बाएं हाथ पर मुहर लगेगी ताकि उन्‍हें आसानी से पहचाना जा सके। मुंबई में मंगलवार को एक 64 वर्षीय COVID-19 पेशेंट की मौत हो गई जिसके बाद देश में मौतों का आंकड़ा 3 तक जा पहुंचा।

फ्रांस ने घोषित किया लॉकडाउन
दुनिया के 157 देशों में अब तक 1,82,000 से ज्‍यादा मामले सामने आ चुके हैं। फ्रांस ने कोरोना वायरस के चलते देश में लॉकडाउन कर दिया है। यहां पिछले 24 घंटों में 1,210 नए मामले सामने आए हैं।कोरोना वायरस से सबसे अधिक खतरा बुजुर्गों को है। अभी तक जिन देशों में इस वायरस ने तबाही मचाई है, वहां मरने वालों में अधिकतर बुजुर्ग हैं। इटली में इतनी ज्‍यादा मौतों के पीछे वहां की बुजुर्ग आबादी को वजह बताया जा रहा है।

WHO की एक रिपोर्ट कहती है कि सबसे ज्‍यादा खतरा उन पेशेंट्स को है जो पहले से ही किसी बीमारी के शिकार हैं। एक स्‍टडी के मुताबिक, Covid-19 पीड़ित 88% लोगों को बुखार था। बुजुर्गों में यह संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका भी डॉक्‍टर्स ने जताई है।डॉक्‍टर्स के मुताबिक, सोशल डिस्‍टेंसिंग से कोरोना वायरस के फैलाव को कम किया जा सकता है। इंफेक्‍शन रोकने के लिए इसकी सलाह दी जाती है। इसके तहत, बड़ी संख्‍या में लोगों का एक जगह जुटना बंद कर दिया जाता है। साथ ही पार्टी, कंसर्ट, स्‍पोर्टिंग इवेंट, पब्लिक प्‍लेसेज में जाने से बचने को भी कहा जाता है।

Leave a Reply