पवन का एक और पैंतरा, सुप्रीम कोर्ट में नाबालिग होने का दावा

पवन का एक और पैंतरा, सुप्रीम कोर्ट में नाबालिग होने का दावा

- in राष्ट्रीय
0

नई दिल्ली

निर्भया केस के दोषी फांसी से बचने के लिए हर पैंतरा अपना रहे हैं। चार दोषियों में शामिल पवन की ओर से मंगलवार को फिर सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की गई है। इस बार पवन की ओर से कहा गया है कि वह घटना के वक्त नाबालिग था, ऐसे में उसकी फांसी की सजा खारिज की जाए। हालांकि सुप्रीम कोर्ट में उसकी नाबालिग होने की दलील खारिज कर चुकी है। इस बाबत रिव्यू भी दाखिल की थी जो खारिज हो चुकी है।

सभी चारों मुजरिमों की दया याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं और मुकेश कुमार सिंह, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर को 20 मार्च को सुबह 6 बजे के करीब फांसी पर लटकाया जाना है। फांसी से पहले पवन ने ये क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की है। उधर, मामले के एक अन्य दोषी अक्षय ठाकुर ने मंगलवार को दोबारा राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल की है। मंगलवार को अक्षय की ओर से तिहाड़ जेल प्रशासन को दया याचिका सौंपी गई है। राष्ट्रपति एक बार पहले ही अक्षय की दया याचिका खारिज कर चुके हैं।

इतना ही नहीं, निर्भया गैंगरेप केस में फांसी की सजा पाए दोषी अक्षय ठाकुर की पत्नी पुनीता ने अब अपने पति को फांसी से बचाने के लिए कानूनी चाल चली है। पुनीता ने एक फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है। अक्षय की पत्नी ने एक परिवार न्यायालय में तलाक की अर्जी देते हुए कहा कि वह अक्षय की विधवा बनकर नहीं रहना चाहती है। अक्षय की पत्नी ने औरंगाबाद परिवार न्यायालय के जज रामलाल शर्मा की कोर्ट में दाखिल अपनी अर्जी में कहा, ‘उसके पति को रेप के मामले में दोषी ठहराया गया है और उसे फांसी दी जानी है, हालांकि वह निर्दोष हैं। ऐसे में वह उसकी विधवा बनकर नहीं रहना चाहती है।’

अक्षय की पत्नी के वकील मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि महिला को यह कानूनी अधिकार है कि वह हिंदू विवाह अधिनियम 13 (2) (II) के तहत कुछ खास मामलों में तलाक का अधिकार है, इसमें रेप भी शामिल है। उन्होंने बताया कि अगर रेप के मामले में किसी महिला के पति को दोषी ठहरा दिया जाता है, तो वह तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर सकती है। कानूनी जानकार इसे एक चाल की तरह देख रहे हैं। कानूनी विशेषज्ञों के अनुसार, इस पर कोर्ट अक्षय को नोटिस जारी कर सकता है और उसे उपस्थित रहने को भी कह सकता है। कुछ कानूनी जानकार इसे दूर की कौड़ी भी बता रहे हैं।

Leave a Reply