कोरोना वायरस के खौफ से लंदन की महारानी ने छोड़ा राजमहल

कोरोना वायरस के खौफ से लंदन की महारानी ने छोड़ा राजमहल

लंदन

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ ने कोरोना के डर की वजह से द्वितीय ने बर्मिंगम पैलेस छोड़ दिया है और उन्हें विंडसर कैसल ले जाया गया है। इसके पीछे योजना है कि यदि देश में कोरोना वायरस का प्रकोप हो गया तो उन्हें और प्रिंस फिलिप को सेंड्रिंगम में अलग रखा जा सके। यह जानकारी रविवार को सामने आई। शाही परिवार के सूत्र ने मीडिया बताया कि उन्हें विंडसर ले जाया गया है। बताया गया, ‘उनकी सेहत अच्छी है, लेकिन सोचा गया कि उन्हें वहां से हटाना ही ठीक होगा। उनका स्टाफ कोरोना वायरस को लेकर घबराया हुआ है।’

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘पैलेस दुनिया भर से आने वाले नेताओं की लगातार मेजबानी करता रहता है। महारानी ने हाल ही में कई लोगों से मुलाकात भी की थी। उनके 94वें जन्मदिन में कुछ ही हफ्ते रह गए हैं और सलाहकारों का मानना है कि उन्हें कोई नुकसान न पहुंचे, इसलिए उन्हें यहां से स्थानांतरित करना ही बेहतर है।’ सूत्र ने यह भी कहा कि बर्मिंघम पैलेस एक खतरनाक जगह हो सकती है ‘क्योंकि यह लंदन के बीच में स्थित है और इसमें बाकी जगहों की तुलना में ज्यादा स्टाफ हैं।’

सूत्र ने ‘द सन’ को बताया कि ‘अभी तक यहां कोई विशेष डर नहीं है और न ही कोई कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है, लेकिन कोई भी खतरा मोल नहीं लेना चाहता।’ बर्मिंगम पैलेस में करीब 500 लोगों का स्टाफ है, वहीं विंडसर में 100 और सैंड्रिगम में दर्जन भर लोग हैं। पैलेस की मई और जून में होने वाली गार्डन पार्टियां रद्द या स्थगित होने के कगार पर हैं, जिनमेंं 30 हजार मेहमान हिस्सा ले सकते थे। रानी को भी छह जून को होने वाली एप्सम डर्बी को छोड़ना पड़ सकता है। सन ने पैलेस के प्रवक्ता के हवाले से कहा है, ‘भविष्य में होने वाले समारोहों के लिए मौजूदा हालात की समीक्षा की जाएगी और सलाह ली जाएगी।’ ब्रिटेन में अबतक कोरोनावायरस के 1,140 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 21 मौतें हो चुकी हैं।

यूरोप में कोरना वायरस से अब तक 2000 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है। इटली में एक ही दिन में सबसे ज्यादा 368 लोगों की मौत हो गई। वहीं स्पेन में भी महामारी तांडव मचा रही है। स्पेन में 100 से ज्यादा लोग ही इस बीमारी का शिकार हो गए। दुनियाभर में 150,000 से ज्यादा लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हैं।

Leave a Reply